HomeMake Money Onlineश्री हनुमान चालीसा PDF File Download

श्री हनुमान चालीसा PDF File Download

Hanuman Chalisa Pdf In Hindi With Meaning….

ıllıllı हनुमान चालीसा ıllıllı

 

श्री गुरु चरण सरोज रज

निज मन मुखर सुधारि

बरनऊं रघुबर बिमल जसु

जो दायकु फल चारि।।

बुद्धिहीन तनु जानिके, सुमिरौं पवन-कुमार।
बल बुद्धि बिद्या देहु मोहिं, हरहु कलेस बिकार।।
जय हनुमान ज्ञान गुन सागर।
जय कपीस तिहुं लोक उजागर।।
श्री रामदूत अतुलित बल धामा।
अंजनि-पुत्र पवनसुत नामा।।
महाबीर बिक्रम बजरंगी।
कुमति निवार सुमति के संगी।।
कंचन बरन बिराज सुबेसा।
कानन कुंडल कुंचित केसा।।
हाथ बज्र औ ध्वजा बिराजै।
कांधे मूंज जनेऊ साजै।
संकर सोयम केसरीनंदन।
तेज प्रताप महा जग बन्दन।।
विद्यावान गुनी अति चातुर।
श्री राम काज करिबे को आतुर।।
प्रभु चरित्र सुनिबे को रसिया।
श्री राम लखन सीता मन बसिया।।
सूक्ष्म रूप धरि सियहिं दिखावा।
बिकट रूप धरि लंक जरावा।।
भीम रूप धरि असुर संहारे।
रामचंद्र के काज संवारे।।
लाय सजीवन लखन जियाये।
श्रीरघुबीर हरषि उर लाये।।
रघुपति कीन्ही बहुत बड़ाई।
तुम मम प्रिय भरतहि सम भाई।।
सहस बदन तुम्हरो जस गावैं।
अस कहि श्रीपति कंठ लगावैं।।
सनकादिक ब्रह्मादि मुनीसा।
नारद सारद सहित अहीसा।।
जम कुबेर दिगपाल जहां ते।
कबि कोबिद कहि सके कहां ते।।
तुम उपकार सुग्रीवहिं कीन्हा।
राम मिलाय राज पद दीन्हा।।
तुम्हरो मंत्र बिभीषन माना।
लंकेस्वर भए सब जग जाना।।
जुग सहस्र जोजन पर भानू।
लील्यो ताहि मधुर फल जानू।।
प्रभु मुद्रिका मेलि मुख माहीं।
जलधि लांघि गये अचरज नाहीं।।
दुर्गम काज जगत के जेते।
सुगम अनुग्रह तुम्हरे तेते।।
श्री राम दुआरे तुम रखवारे।
होत न आज्ञा बिनु पैसारे।।
सब सुख लहै तुम्हारी सरना।
तुम रक्षक काहू को डर ना।।
आपन तेज सम्हारो आपै।
तीनों लोक हांक तें कांपै।।
भूत पिसाच निकट नहिं आवै।
महाबीर जब नाम सुनावै।।
नासै रोग हरै सब पीरा।
जपत निरंतर हनुमत बीरा।।
संकट तें हनुमान छुड़ावै।
मन क्रम बचन ध्यान जो लावै।।
सब पर राम तपस्वी राजा।
तिन के काज सकल तुम साजा।
और मनोरथ जो कोई लावै।
सोइ अमित जीवन फल पावै।।
चारों जुग परताप तुम्हारा।
है परसिद्ध जगत उजियारा।।
साधु-संत के तुम रखवारे।
असुर निकंदन राम दुलारे।।
अष्ट सिद्धि नौ निधि के दाता।
अस बर दीन जानकी माता।।
श्री राम रसायन तुम्हरे पासा।
सदा रहो रघुपति के दासा।।
तुम्हरे भजन राम को पावै।
जनम-जनम के दुख बिसरावै।।
अन्तकाल रघुबर पुर जाई।
जहां जन्म हरि-भक्त कहाई।।
और देवता चित्त न धरई।
हनुमत सेइ सर्ब सुख करई।।
संकट कटै मिटै सब पीरा।
जो सुमिरै हनुमत बलबीरा।।
जै जै जै हनुमान गोसाईं।
कृपा करहु गुरुदेव की नाईं।।
जो सत बार पाठ कर कोई।
छूटहि बंदि महा सुख होई।।
जो यह पढ़ै हनुमान चालीसा।
होय सिद्धि साखी गौरीसा।।
तुलसीदास सदा हरि चेरा।
कीजै नाथ हृदय मंह डेरा।।
दोहा :
पवन तनय संकट हरन, मंगल मूरति रूप।
श्री राम लखन सीता सहित, हृदय बसहु सुर भूप।।

1080p Hanuman Chalisa HD Image PDF

Hanuman Chalisa HD image download
हनुमान चालीसा पाठ हिंदी मै photo pdf

Hanuman Chalisa Padhne Ke Fayde

भगवान हनुमान हिंदू धर्म में कलयुग के सबसे शक्तिशाली भगवान के रूप में पूजे जाते हैं। हनुमान चालीसा भगवान हनुमान की आराधना के लिए भक्ति वंदना है।

हनुमान चालीसा के पाठ से मनुष्य के सभी तकलीफों का नाश हो जाता है। इसके पाठ से घर-परिवार में सुख-समृद्धि आता है। हनुमान चालीसा बेहद ही सहज और सरल भाषा में 40 छंदों में लिखी गई है।

7 बार हनुमान चालीसा पढ़ने के फायदे

अगर आप 7 बार हनुमान चालीसा पढ़ते हो तो आपके जीवन मे positive thinking रहती है। आपके हर काम को साकार कर सकती है, हनुमान चालीसा। अगर आप किसी मुसीबत मे है, तो आप हनुमान चालीसा पाठ कर सकते है। अगर आपको किसी भूत प्रेत से डर  लगता है, तो जब आप हनुमान चालीसा पढ़ने लगेंगे तो आपको किसी भी चीज भय  नहीं लग सकता है। आगर अपके घर मे संपदा की कमी है, पैसे नहीं आ रहा तो आपको हनुमान चालीसा पाठ करने से आपको रिजल्ट देखना सुरू होंगे।

मंगलवार को हनुमान चालीसा पढ़ने के फायदे

अगर आप मंगलवार को हनुमान चालीसा पढ़ते हो, तो आपको बहुत फायदे मिल सकते है। मंगलवार हनुमान जी का वार है। अगर आप इस दिन हनुमान जी की स्तुति करते हो तो हनुमान जी पसन्न हो ज्याते है। ओर आपके हर काम होने लगते है। आप मंगलवार के दिन हनुमान जी को तुलसी की माल ओर साथ मे सिंदूर लेके जयाए। ओर सिंदूर आप हनुमान जी को लगाए, ओर साथ मे हनुमान चालीसा का पाठ करे आपके हर संकट हनुमान जी हर लेंगे।

मंगलवार के दिन हनुमान चालीसा कितनी बार पढ़ना चाहिए?

आप मंगलवार के दिन 7, 11, 100 और 108 बार पाठ कर सकते है। जो सत बार पाठ कर कोई। छूटहि बंदि महा सुख होई।। हनुमान चालीसा इस चोपई मे बताया है। अगर कोही सत यानि 100 बार को हनुमान चालीसा करता है, उसके हर संकट मुक्त होते है। ओर उसके महा सुख मिलता है। अगर आप 100 बार नहीं कर सकते हो आप मिनीमन 7 बार जरूर करे। 

हनुमान जी का पावरफुल मंत्र कौन सा है?

1. श्री हनुमान मूल मंत्र:

ॐ ऐं ह्रीं हनुमते श्री रामदूताय नमः॥

मंत्र का अर्थ: सभी लोगों के संकटों को करने वाले, मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम के दूत वीर हनुमान को हमारा नमस्कार है। वे हम सभी की रक्षा करें और संकटों से मुक्ति प्रदान करें।

मंत्र का लाभ:

इस मंत्र से मन का भय दूर हो आत्मविश्वास और भक्ति की प्राप्ति होती है।

2. रुद्र हनुमान मंत्र:

ॐ नमो हनुमते रुद्रावताराय सर्वशत्रुसंहारणाय। सर्वरोगहराय सर्ववशीकरणाय रामदूताय स्वाहा॥

मंत्र का अर्थ:

हे हनुमान आप रूद्र के अवतार हो और रामदूत हो। हमारे सर्व शत्रु का नाश कीजिए, आपकी कृपा दृष्टि से सर्व रोगों का हरण कीजिए। हे राम दूत हम आपसे प्रार्थना करते हैं कि आपकी कृपा से हमारे सभी कार्य में सफलता और कीर्ति प्राप्त हो। हे संकटमोचन देव हम आपको प्रणाम करते हैं।

मंत्र का लाभः

इस मंत्र के पठन से, मनुष्य को सर्व रोगों से मुक्ति मिलती है तथा सभी शत्रुओं पर विजय की प्राप्ति होती है। हनुमान बुरे वक्त की मार से रक्षा कर, समय को अनुकूल, सुख-समृद्ध भी कर देते हैं।

3. हनुमान गायत्री मंत्र:

ॐ आञ्जनेयाय विद्महे वायुपुत्राय धीमहि । तन्नो हनुमत् प्रचोदयात्॥

मंत्र का अर्थ:

श्री अंजना और पवन देव के पुत्र, विशेष बुद्धि के धारक श्री वीर हनुमान हम पर आपकी दया दृष्टि बनाए रखें एवं हमें अपनी शरण प्रदान करें।

मंत्र का लाभः

इस मंत्र के जाप से भय का नाश, मानसिक शांति मिलती है और आत्मविश्वास बढ़ता है।

हनुमान चालीसा पढ़ने का सही टाइम क्या है?

हनुमान चालीसा वयसे तो आप किसी टाइम पर पाठ कर सकते है, लेनक जो सबसे अच्या समय है। ओ सुबह ओर शाम को मना गया है। अगर आपको सुबह टाइम नहीं मिलता, तो आप शाम को हनुमान चालीसा का पाठ कर सकते है। आपको हनुमान चालीसा पाठ करते समय इस बाद खास खयाल रखना है। आपको हनुमान चालीसा साप जगर पर पाठ करना है। ओर आपको जब आप हनुमान चालीसा पाठ करने बैठे तो आप आसान जरूर ले।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments